अमेरिका को चुनौतियों से निपटने में मदद करेंगे दक्षिण एशिया के तीन युवा

दक्षिण एशियाई मूल के अखिल बेरी, आकिफ इरफान और आनंद रघुरामन शामिल हैं। चुने गए सभी प्रतिनिधि 25 से 35 साल के उम्र के युवा हैं। इनका काम दुनिया की जटिल समस्याओं का अध्ययन करना और उनका समाधान निकालना होगा।

अमेरिका को चुनौतियों से निपटने में मदद करेंगे दक्षिण एशिया के तीन युवा

दक्षिण एशियाई मूल के तीन अमेरिकी नागरिकों को प्रतिष्ठित एस्पेन स्ट्रैटेजी ग्रुप (एएसजी) के राइजिंग लीडर्स प्रोग्राम के लिए चुना गया है। इस प्रोग्राम के लिए कुल 32 लोगों का चयन किया गया है। इनमें से दक्षिण एशियाई मूल के अखिल बेरी, आकिफ इरफान और आनंद रघुरामन शामिल हैं। चुने गए सभी प्रतिनिधि 25 से 35 साल के उम्र के युवा हैं। इनका काम दुनिया की जटिल समस्याओं का अध्ययन करना और उनका समाधान निकालना होगा। बताया गया है कि एएसजी का मिशन संयुक्त राज्य अमेरिका के सामने आने वाली विदेश नीति संबंधी प्रमुख चुनौतियों का समाधान करना है। साल भर चलने वाले इस प्रोग्राम में चुने गए सदस्य महत्वपूर्ण विदेश नीति के मुद्दों पर योगदान करेंगे। इस प्रोग्राम के लिए चुने गए भारतीय मूल के अखिल बेरी साउथ एशिया इनिशिएटिव के डायरेक्टर हैं।

अखिल भारत-अमेरिका संबंध और साउथ एशिया में विकास के मसले पर अपने शोध को फोकस करेंगे। वह श्रीलंका में चल रही चीन-भारत प्रतिद्वंद्विता और श्रीलंका की चीन से लिए कर्ज के बाद उत्पन्न स्थिति के प्रभावों के बारे में भी लिखते रहे हैं। इसके साथ ही वह अंतरराष्ट्रीय संबंधों से जुड़े काउंसिल के सदस्य हैं। इससे पहले वह यूरेसिया ग्रुप के साथ काम कर चुके हैं। जहां उन्होंने भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका में राजनीतिक और आर्थिक उतार-चढ़ाव पर अध्ययन किया है। वह मैकलेर्टी असोसिएट्स के लिए भी काम कर चुके हैं। उन्होंने जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय अंतरराष्ट्रीय कारोबार और नीति में मास्टर की डिग्री हासिल की है। अखिल फ्रैंकलिन एंड मार्शल कॉलेज से स्नातक हैं।