28 देशों के 500 हिंदी कवियों ने 15 दिन लगातार काव्य पाठ कर बनाया विश्व रिकार्ड

"मां भारती कविता महायज्ञ" नामक इस कार्यक्रम में 100 से अधिक संचालक थे। इस काव्य पाठ की शुरुआत 31 अगस्त से हुई और पंद्रह दिन तक निरंतर 24 घंटे चलता रहा और 14 सितंबर को (हिंदी दिवस) रात 8 बजे समाप्त हुआ।

28 देशों के 500 हिंदी कवियों ने 15 दिन लगातार काव्य पाठ कर बनाया विश्व रिकार्ड

दुनिया तीसरी सबसे बोली जाने वाली भाषा और भारत की राजभाषा हिंदी के नाम एक और कीर्तिमान कायम हुआ है और वह है सबसे लंबा कवि सम्मेलन। जी हां, यह कवि सम्मेलन यूट्यूब और फेसबुक पर लगातार 15 दिनों तक 24 घंटे लाइव प्रसारित हुआ। यह किसी भी भाषा का विश्व का सबसे लंबा काव्य पाठ है।

कवियों ने 15 दिन तक लगातार 24 घंटे काव्य पाठ कर विश्व कीर्तिमान स्थापित किया।

हिंदी पखवाड़े के दौरान आयोजित इस कवि सम्मेलन में 28 देशों के 500 से अधिक कवियों ने 15 दिन तक लगातार 24 घंटे काव्य पाठ कर विश्व कीर्तिमान स्थापित किया।