चार्टर्ड प्लेन से ऑस्ट्रेलिया भेजे जाएंगे गुरु ग्रंथ साहिब के 220 पावन सरूप

SGPC के अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी ने इस बात की पुष्टि की है और साथ ही बताया है कि सरूप तब भेजे जाएंगे जब ऑस्ट्रेलिया के श्रद्धालु चार्टर्ड प्लेन का इंतजाम कर लेंगे। इस बाबत वहां के भक्तों को जानकारी भेजी जा रही है, ताकि वे चार्टर्ड प्लेन का इंतजाम कर लें।

चार्टर्ड प्लेन से ऑस्ट्रेलिया भेजे जाएंगे गुरु ग्रंथ साहिब के 220 पावन सरूप

सिखों के धर्म ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब के 220 पावन सरूप (स्वरूप या प्रतियां) चार्टर्ड प्लेन के जरिए भारत से ऑस्ट्रेलिया भेजे जाएंगे। इस दौरान सिख मर्यादा का पूरा खयाल रखा जाएगा। इस बारे में अकाल तख्त के निर्देशों के बाद श्री गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) ने विक्टोरिया (ऑस्ट्रेलिया) के गुरु नानक संगत दरबार की 220 सरूप भेजने की मांग स्वीकार कर ली है।

सिखों के पावन गुरु ग्रंथ साहिब को दो ही जगह प्रकाशित किया जाता है। एक, SGPC की देखरेख में अमृतसर में और दूसरा दिल्ली में। Photo: Wearesikhs.org

SGPC के अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी ने इस बात की पुष्टि की है और साथ ही बताया है कि सरूप तब भेजे जाएंगे जब ऑस्ट्रेलिया के श्रद्धालु चार्टर्ड प्लेन का इंतजाम कर लेंगे। विक्टोरिया संगत की यह मांग SGPC कार्यकारिणी के सामने रखी गई थी। कार्यकारिणी ने इस पर अपनी मुहर लगा दी है।

धामी ने बताया कि हम इस बारे में बैठक में पारित प्रस्ताव ऑस्ट्रेलिया के भक्तों को भेज रहे हैं ताकि वे चार्टर्ड विमान का इंतजाम कर लें। सिखों के पावन गुरु ग्रंथ साहिब को दो ही जगह प्रकाशित किया जाता है। एक, SGPC की देखरेख में अमृतसर में और दूसरा दिल्ली में।  

बताया जाता है कि SGPC की पिछले सप्ताह अमृतसर में अहम बैठक हुई थी। इस बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए थे। इसी बैठक में यह तय किया गया कि विक्टोरिया संगत की मांग के अनुसार गुरु ग्रंथ साहिब के 220 पावन सरूप ऑस्ट्रेलिया भेजे जाएंगे लेकिन उसके लिए भक्तों को एक चार्टर्ड विमान का इंतजाम करना पड़ेगा, ताकि मर्यादा का पूरा ध्यान रखते हुए पावन सरूप एयरलिफ्ट किए जा सकें।

गौरतलब है कि बेअदबी की बढ़ती घटनाओं के बीच सिख समुदाय और खास तौर से SGPC अपने पावन ग्रंथ की मर्यादा को लेकर खासी संजीदा रहती है। मर्यादा के मद्देनजर ही SGPC ने विक्टोरिया संगत दरबार की मांग पर यह शर्त रखी है।