14 साल की दीक्षा ने किया कारनामा, NASA ने विशेष फैलोशिप के लिए चुना

बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाली दीक्षा ने यह फैलोशिप पाने का कारनामा किया है। दीक्षा के पिता कृष्णा शिंदे एक स्कूल हेडमास्टर हैं और उनकी मां ट्यूशन पढ़ाती हैं।

14 साल की दीक्षा ने किया कारनामा,  NASA ने विशेष फैलोशिप के लिए चुना

नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) ने भारत की 14 साल की दीक्षा शिंदे (Diksha Shinde) को बड़ा सम्मान दिया है। नासा ने 'ब्लैक होल' पर दीक्षा के शोध लेख को मान्यता देने के बाद अब उन्हें माइनॉरिटी सर्विंग इंस्टीट्यूशन (MSI) फैलोशिप वर्चुअल पैनल के लिए चुना है। छोटी सी उम्र में दीक्षा ने यह अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

मई 2021 में दीक्षा के 'वी लिव इन ब्लैक होल' शीर्षक वाले रिसर्च पेपर को इंटरनेशनल जर्नल ऑफ साइंटिफिक एंड इंजीनियरिंग रिसर्च ने स्वीकार किया था। बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाली दीक्षा ने यह कारनामा किया है। दीक्षा के पिता कृष्णा शिंदे एक स्कूल हेडमास्टर हैं और उनकी मां ट्यूशन पढ़ाती हैं। महाराष्ट्र की दीक्षा 10वीं की छात्रा हैं और उन्हें किताबें पढ़ने व नई चीजें जानने का शौक है।